कोरोना महामारी के बीच वरदान साबित हो रहें भामाशाह

0
कोरोना महामारी के बीच वरदान साबित हो रहें भामाशाह
आर्थिक स्थिति से जूझ रहें परिवारों को सम्बल प्रदान कर रहें भामाशाह

आर्थिक स्थिति से जूझ रहें परिवारों को सम्बल प्रदान कर रहें भामाशाह

फ़ास्ट न्यूज़ नागौर रियां बड़ी- कोरोना आज पूरा देश कोरोना जैसी भयंकर महामारी से जूझ रहा। आर्थिक गतिविधियों के थम जाने के कारण लोगों को अपनी जीविका चलाने में कई प्रकार की परेशानी हो रही हैं, इसी परेशानीयों के बीच कस्बे के अमराव सिंह राठौड़ पुत्र स्व कुंदन सिंह राठौड़ पूर्व सरपंच रियां बड़ी लोगों के लिए जीवन दायनी साबित हो रहे हैं। उमराव सिंह ने बताया कि कोरोना की भयंकर महामारी की दूसरी लहर अत्यंत खतरनाक हैं, इस महामारी में लोगों को जागरूक रहने की अधिक आवश्यकता हैं, साथ कि लोगों को मानसिक रूप से मजबूत होने की आवश्यकता हैं।

अमराव सिंह वर्तमान में विदेश में रहते हुए भी गांव की सरजमी से सीधे जुड़े हैं।

2 लाख तक का केबल बिल माफ किया था।

अमराव सिंह वर्तमान में विदेश में रहते हुए भी गांव की सरजमी से सीधे जुड़े हैं।

उमराव सिंह राठौड़ के छोटे भाई योगेंद्र सिंह ने बताया कि पिछले लॉक डाउन के दौरान भी आर्थिक रूप से

कमजोर लोगों को 500 राशन किट व 3 माह का 2 लाख तक का केबल बिल माफ किया था। साथ ही इस बार भी 300 परिवारों को राशन सामग्री दी। योगेंद्र सिंह ने बताया कि हम हर मोर्चे पर कस्बे के लोगो के साथ जुड़े हैं, इस कोरोना महामारी की दूसरी लहर जो अत्यंत भयंकर हैं हम लोगों के साथ खड़े हैं। गरीबों के दुख सुख के भागी बनने की हर मुमकिन कोशिश करते रहेंगे।

युवाओं के सहयोग से वितरण किये राशन किट

स्थानीय भामाशाह योगेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया की युवाओं की सहायता से पिछले व इस बार

कुल 800 राशन किट वितरण किए। भूपेंद्र सेन, अजय सिंह सथाना, मनोहर वाल्मीकि सहीत कई युवाओं ने

घर-घर जाकर गरीब परिवारों को राशन सामग्री वितरण की, तथा लोगों को कोविड-19 से जागरूक रहने की सलाह दी।

नागरिकों से की घरों में रहनें की अपील

भामाशाह उमराव सिंह राठौड़ नें बताया की भारत में कोविड-19 के रोगी लगातार बढ़ रहें हैं। कोरोना के प्रति जागरूकता नही होने के कारण लोग लॉक डाउन मे भी बाहर घूम रहें हैं। राठोड़ ने जागरुकता का संदेश देते हुए कहा की सभी घरों में रहें व अनावश्यक बाहर न घूमें, अतिआवश्यक कार्य हो तो मास्क पहनकर बाहर जाए। घर लौटने पर हाथों को सेनेटाईजर करें। तथा सरकार द्वारा बताएं गई उक्त सभी नियमों को अतिआवश्यक समझ कर पालन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here