खेतों में जंगली सूअरों का आतंक किसानों की बड़ी चिंता

0
खेतों में जंगली सूअरों का आतंक किसानों की बड़ी चिंता

-खेतों में लगातार पिछले एक वर्ष से हो रहा भारी नुकसान

फ़ास्ट न्यूज़कस्बे सहीत आस पास के ग्रामीण अंचल में जंगली सूअरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा।

बीती कुछ दिनों में भी कई खेतों में घुसकर फसलों को नुकसान पहुंचाने की घटना घटीत हुई हैं।

किसानों की खड़ी फसल चौपट होने से किसान चिंतित हैं।

फसलों को सूअर बर्बाद कर रहें हैं

किसानों की सूचना पर फ़ास्ट न्यूज़ ने मौके पर जाकर देखा तो पाया की फसलों को सूअर बर्बाद कर रहें हैं।

किसानों का कहना हैं कि जंगली सूअरों के झुंड घूम कर खेतों में फसलों को खा रहे हैं,

जबकि बाजरे की फसल अंतिम दौर में है कुछ ही दिनों में बाजरे की फसल कटाने को तैयार हैं।

किसानों ने इस समस्या से निजात दिलाने की मांग की हैं। खेतों में मूंगफली, बाजरा और मक्का आदि फसलें हैं।

जानकारी के अनुसार के खेतों में रविवार रात्री को जंगली सूअरों ने नुकसान पहुंचाया हैं।

गांव में पिछले कुछ दिनों से रात्रि में सूअर खेतों में घुस आते हैं। बरसात के बाद किसानों की बाजरे की फसल खड़ी हैं

और फसल अंतिम दौर में हैं लेकिन किसानों की मेहनत पर जंगली सूअरों ने पानी फेर दिया हैं।

रात्रि में सूअरों ने झुंड बनाकर फसलों को चौपट कर दिया

किसानों ने बताया कि जल्द ही इन सूअरों को पकड़ा जाए नहीं तो कलेक्टर के सामने भी पेश होना

पड़ेगा तो होने को तैयार हैं इन हालातों में किसानों को चिंता है कि कहीं पूरी फसल चौपट हो जाए।

रात रात्रि में नहीं कर सकते सामना किसानों का कहना है कि सूअर झुंड में खेतों में

घुसकर फसलों को नष्ट कर रहे हैं और किसान बेबस है।

रात्रि में सुअरों का सामना नहीं किया जा सकता, पिछली एक साल से ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं।

वर्तमान में मक्का बाजरी और मूंगफली की फसल बोई हुई हैं। तारबंदी के बाद भी सूअर खेतों में घुस रहे हैं

किसानों को फसलों की चिंता सताने लगी हैं। इस संबंध में प्रशासन से कार्रवाई व मुआवजे की मांग की गई है।

पांच बीघा बाजरें की फसल ख़राब

कस्बे के सुनारी बेरी के पास स्थित नाथुराम माली के खेत मे रविवार रात्री को जंगली सूअरों के झुंड का आतंक हुआ।

फसले पकने को तैयार हैं उससे पहले ही सूअर हमला कर फसल को बर्बाद कर रहें हैं।

रविवार रात्री को किसान के पांच बीघा खेत मे सूअरों ने काफी आतंक मचाया व अधिकत्तर फसल को नुकसान पहुंचाया जिससे किसान परेशान हैं।

हाल बेहाल सरकार साथ दें तब बने बातपिछले कुछ महीनों से सूअरों का आतंक बढ सा गया हैं।

पहले एक दो सूअर होते थे परन्तु अब इनकी संख्या की गणना करना भी मुश्किल हैं। बाजरे की सटी को सूअर खाकर जमीन पर बखेर देते हैं।

जिससे फसल खराब हो रही हैं सूअर घूम घूम कर पुरी फसलों को खराब कर रहें हैं।

सरकार को वन विभाग की टीम से पकड वाना चहीए व नुकसान हुए किसानों को मुआवजा देना चहीए।
-नाथूराम माली, बेबस किसानों

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here